BRAHMAKUMARIS Aaj Ka Purusharth 9 MARCH 2018 – आज का पुरूषार्थ

To Read 8 March Shiv Baba’s Mahavakya :-  Click Here

Om Shanti
09.03.2019

★【 आज का पुरूषार्थ】★

बाबा कहते हैं … बच्चे, अपने बोल पर double attention दो अर्थात् केवल ज़रूरत का अर्थात् केवल स्व-परिवर्तन प्रति अर्थात् आपके अपने routine में, सम्पर्क में आने वाली आत्माओं को हल्का रखने के लिए ही वाचा में आओ।

बस, अब आपके बोलने से जो शक्ति व्यर्थ जाती है, वो save करो…। फिर जल्दी ही आपकी ऊँची स्थिति हो जाएगी, जो स्वयं ही आपको प्रत्यक्ष करेगी।

आपको अपने ऊपर double attention रखना है … ना ही स्वयं भारी होना है और ना ही दूसरों को भारी रखना है…।
हर बात को knowledgeful हो, हल्का कर दो। 
स्व-परिवर्तन की तरफ full attention रखना…।

पहले स्वयं की कमज़ोरी को accept करो, फिर उसपर attention दो, तो वो जल्द ही finish हो जायेगी।

योग के साथ-साथ स्वयं पर attention रख अर्थात् आपके बोल और कर्म पर full attention होना चाहिए।

कोई भी छोटी से छोटी, बड़ी से बड़ी बात … चाहे स्वयं प्रति, अन्य आत्माओं प्रति या किसी बाहरी परिस्थिति प्रति, सब बाप को समर्पण कर, हल्का रह, पुरूषार्थ करना … क्योंकि यही एक ऐसा समय जा रहा है जबकि स्वयं भगवान की नज़र हर पल आप बच्चों पर है। 
फिर तो हर second में आपका कल्याण समाया हुआ है।

बस, धैर्यतापूर्वक drama के हर scene को देख, बाप को साथी बना, साक्षी हो जाओ।

स्वयं परमपिता परमात्मा, भगवान … आपका हर पल के लिए साथी बना है, तो फिर बाप का full सहयोग लो। ये ही बाप का सहयोग आपको उड़ाकर, बाप के पास बिठा देगा।

बस, अलबेले मत बनना…!
यह अलबेलापन बाप से किनारा करा देता है … और अब के वातावरण प्रमाण बाप के हर पल के सहयोग के बिना, आगे बढ़ना मुश्किल है।

बस, आप स्वयं को अपनी seat पर set करने की ही चिन्ता करना और सब चिन्तायें बाप (परमात्मा शिव) की हैं … और जिन बच्चों का रखवाला स्वयं भगवान हो, उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता…!

इतना बाप पर निश्चय रख, high jump दो … high jump दे अपनी मंज़िल पर पहुँचो…।

बस, वाचा पर double attention रखना। 
धैर्यतापूर्वक अपने बोल पर control रखना … और balance भी बहुत ज़रूरी है अर्थात् आपको यह पता होना चाहिए कि आपको किस समय बोलना है और किस समय चुप रहना है।

यह पुरूषार्थ भी सहज है, क्योंकि आपका अनादि स्वरूप वाणी से परे का है।

बस, थोड़े-से attention से ही सहज सफलता मिलेगी। 
Attention की भी tension मत रखना। यदि भूल जाओ तो फिर बाप से रूह-रिहान कर हल्के हो, अपनी seat पर set हो जाओ।

बस, अपने पुरूषार्थ में लगे रहना। पुरूषार्थ ही अपनी मंज़िल पर पहुँचायेगा…।

अच्छा। ओम् शान्ति।

【 Peace Of Mind TV 】
Dish TV # 1087 | Tata Sky # 1065 | Airtel # 678 | Videocon # 497 |
Jio TV |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Font Resize