BRAHMAKUMARIS DAILY MAHAVAKYA 8 NOVEMBER 2017 – Aaj Baba ne Kaha

To Read 7 November Shiv Baba’s Mahavakya :- Click Here

*Om Shanti*
*08.11.2017*

★【 *आज का पुरुषार्थ* 】★

आप बच्चों को हमेशा बाप के गुणों और शक्तियों रूपी छत्रछाया में रहना है।

आपको अब यहीं सोचना हैं कि अब मैं आत्मा शिवबाबा की आज्ञा प्रमाण अपने लौकिक और अलौकिक कार्य पूरे कर रहा हूँ। बाप की आज्ञा है इसलिए हरेक कार्य बहुत प्रेमपूर्वक, ज्ञान-स्वरूप बन, युक्ति-युक्त ढंग से करना है।

बाबा को यह भी पता है कि यह इतना सहज नहीं है, इसलिए बाबा रोज़-रोज़ बच्चों का उमंग-उत्साह बढ़ाने के लिए बच्चों को समझानी देते हैं … और बाप रूका ही इसलिए हैं ताकि बच्चे जल्दी-से-जल्दी सम्पन्न बन जायें।

देखो बच्चे, समय की सुई अब जल्द ही परिवर्तित होने वाली है और यह बिल्कुल अचानक ही होनी है इसलिए अब अलबेले ना बन अपनी वैराग्य वृत्ति को emerge करो और अपने अभ्यास पर और attention रख, उसे और अधिक बढ़ाओ।

बस बार-बार इसी चीज़ का अभ्यास वा attention हो कि मुझे अब देही-अभिमानी स्थिति में स्थित हो, एक शिव बाप के संग में रह अर्थात् उनके गुणों और शक्तियों रूपी छत्रछाया में रह निमित्त मात्र हर कार्य करना है। मुझे अब कर्म के बंधन में नहीं फँसना है।

जब आप अपनी स्थिति में स्थित हो हर कार्य करेंगे तो हर कार्य के अच्छे वा बुरे result का ज़िम्मेवार बाप होगा। इसलिए बच्चे, अब जल्दी-जल्दी अपना कार्य सम्पन्न कर बाप-समान बन, बाप के पास अपने रूहानी घर पहुँचों।

अच्छा । ओम् शान्ति ।

【 *Peace Of Mind TV* 】
Tata Sky # 1065 | Airtel # 678 | Videocon # 497 | Reliance # 640 | 
Jio TV |

2 thoughts on “BRAHMAKUMARIS DAILY MAHAVAKYA 8 NOVEMBER 2017 – Aaj Baba ne Kaha”

    1. Om Shanti ! It means being in your true form that is Aatma while doing every task. Har karya karte samay aatma hone ki smriti hogi toh har karya mei safalta prapt hogi.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Font Resize