BRAHMAKUMARIS DAILY MAHAVAKYA 29 APRIL 2018 – Aaj Ka Purusharth

To Read 28 April Shiv Baba’s Mahavakya :- Click Here

Om Shanti
29.04.2018

★【 आज का पुरुषार्थ 】★

बच्चे, बाबा स्वयं आकर पुरूषार्थ कराता है और यह पुरूषार्थ बहुत ही जल्दी finish होने वाला है और सभी अपने पुरूषार्थ के according अपनी-अपनी seat पर set होंगे…।

जो बच्चे बाप की पढ़ाई को बुद्धि द्वारा समझ सम्पूर्ण रीति धारण करेंगे वो ही सम्पूर्ण बनेंगे … इसलिए बाबा बार-बार कहता है कि श्रीमत् अर्थात् पढ़ाई की महीनता को समझ धारण करो…।
फिर बहुत सहज ही अपनी मंज़िल तक पहुँच जाओगे।

इसके लिए ज्यादा कुछ नहीं करना – जैसे एक छोटा बच्चा अपने पिता के कहे अनुसार उनकी अंगुली पकड़ चलता रहता है।
कोई question नहीं…, कोई complaint नहीं…, बस पिता से प्यार होने के कारण, सम्पूर्ण निश्चय है इसलिए वह किसी भी रास्ते की चिंता किए बिना बाप की अंगुली पकड़ चलता जा रहा है…।

इसी तरह हमें भी बाप की श्रीमत रूपी अंगुली पकड़ बेफिक्र हो खुशी-खुशी चलना है। बस हमारे लक्ष्य तक पहुँचाने का कार्य बाप का है…।

बच्चे, अब अपने देह से ममत्व मत रखो … यह बिल्कुल तमोप्रधान तन है। बस आप निमित्त बन इसकी सम्भाल करो परन्तु इसमें फँसो मत … स्वयं को 100% बंधनमुक्त बनाओ।

किसी भी स्थूल धारणाओं के लिए भी ज्यादा rigid मत बनो…। 
सूक्ष्म धारणाओं की तरफ ध्यान दो अर्थात् स्वयं के स्वभाव-संस्कार को परिवर्तन करो…।

आप बच्चों को 100% बाप की याद में अर्थात् किसी ना किसी विधि द्वारा बाप के संग का अनुभव करने का पुरूषार्थ करना है। आप बच्चों को हठयोगी नहीं सहजयोगी बनना है।

सहजयोगी आत्मा ही हल्की और खुश रह सकती है। सहजयोगी अर्थात् बाप की याद में … बाप से रूह-रिहान में … या बाप को संग रखने में खुशी का अनुभव करना।

बस आपका यह attention रहे कि मैं बाप की श्रीमत प्रमाण अर्थात् मेरी मनसा-वाचा-कर्मणा बाप की श्रीमत प्रमाण हैं…? जितना आप बाप की श्रीमत प्रमाण चलोगे उतना ही आपको double light अर्थात् प्रकाशमय और हल्केपन का अनुभव होगा।

बस इसके लिए knowledgeful बनना है … knowledgeful आत्मा ही powerful बन सकती है और धारणा स्वरूप भी…।

बस आपका 100% attention केवल स्वयं पर होना चाहिए। कोई आत्मा कुछ भी बोल रही है या कर रही है उसे आप बाप हवाले कर दो या फिर बाबा की श्रीमत् प्रमाण उसके साथ loveful और lawful होकर चलो … परन्तु आप बच्चों की भावना अर्थात् intention उसके प्रति बहुत शुभ और कल्याण की होनी चाहिए। 
इसलिए अब जल्दी करो … जल्दी करो … अपना कर्तव्य संपन्न कर बच्चे, मेरी बाहों में समा जाओ…।

अच्छा । ओम् शान्ति ।

【 Peace Of Mind TV 】
Dish TV # 1087 | Tata Sky # 1065 | Airtel # 678 | Videocon # 497 |
Jio TV |

1 thought on “BRAHMAKUMARIS DAILY MAHAVAKYA 29 APRIL 2018 – Aaj Ka Purusharth”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Font Resize