BRAHMAKUMARIS DAILY MAHAVAKYA 23 NOVEMBER 2018 – Aaj Ka Purusharth

To Read 22 November Shiv Baba’s Mahavakya :- Click Here

Om Shanti
23.11.2018

★【 आज का पुरूषार्थ】★

बाबा ने कहा … बच्चे, आप जब कोई भी कार्य शुभ भावना और शुभ कामना से करते हो तो निष्फल नहीं जाता … आप निश्चिंत रहो…।

जब कोई भी बच्चा अपना तन, मन, बुद्धि और अपना हर कार्य बाप को समर्पण कर देता है, तो उसका ज़िम्मेवार बाप हो जाता है … और सोचो तो सहीं, जिसका ज़िम्मेवार बाप (परमात्मा शिव) होगा;
• उसका तन … जन्मों-जन्म तक निरोगी, प्रभावशाली और शीशे की तरह चमकदार बन जायेगा।
• मन … निर्मल, स्वच्छ और शान्त बन जाएगा। 
• बुद्धि … इतनी दिव्य बन जायेगी कि सभी आत्माएं उससे राय लेने आयेगी। 
• और आपके हर कर्म … गायन और पूजन योग्य बन जायेंगे। 
बस समर्पण 100% होना चाहिए…।

दूसरा, आपके एक-एक संकल्प श्रेष्ठ और शुभ हों, चाहे स्व प्रति … चाहे दूसरों के प्रति…।

संकल्पों में व्यर्थ, वा साधारण और negative की mixing नहीं होनी चाहिए।

बाबा ने आपको श्रेष्ठ संकल्पों का खज़ाना दिया है जैसे;
• ऊँचे से ऊँचा स्वमान
• ऊँचे भाग्य की स्मृति
• गुणों और शक्तियों की स्मृति आदि…।

अब इन संकल्पों में आप बच्चों को रहना है, जैसे सारे स्वमान…
• भगवान् मेरा हो गया 
• वो मेरे साथ है
• मैं बाबा का दिलरूबा बच्चा हूँ
• नूरे रत्न हूँ
• दिलतख्तनशीन हूँ
• दुनिया में सबसे अधिक भाग्यशाली हूँ
• कल्प-कल्प का विजयी हूँ
• सफलता मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है 
• मैं शिव बाप की सजनी हूँ 
• मैं तीव्र पुरूषार्थी हूँ
• मेरी विजय निश्चित है … आदि – आदि…।

बस इन संकल्पों में अपनी बुद्धि busy रखो … सूक्ष्म-सा भी कमज़ोर संकल्प मन में ना आये…!

जब आप बच्चों का सहयोगी और साथी स्वयं भगवान है, उन बच्चों के अन्दर कितना नशा होना चाहिए…!

• जितना निश्चय … उतना नशा,
• जितना नशा … उतनी ही खुशी,
• जितनी खुशी … उतना हल्का,
• और जितना हल्का होगा … उतना ही सबका सहयोगी होगा…।

बस बच्चे, बाप के साथ नाचो, गाओ और कुछ नहीं करना…।

अच्छा। ओम् शान्ति।

【 Peace Of Mind TV 】
Dish TV # 1087 | Tata Sky # 1065 | Airtel # 678 | Videocon # 497 |
Jio TV |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Font Resize