BRAHMAKUMARIS DAILY MAHAVAKYA 13 JUNE 2018 – Aaj Ka Purusharth

To Read 12 June Shiv Baba’s Mahavakya :- Click Here

Om Shanti
13.06.2018

★【 आज का पुरुषार्थ 】★

बाबा ने कहा … बच्चे, 
आप अपनी मन और बुद्धि में हर समय अपने गुणों और शक्तियों को emerge रूप में रखो…। जब आपकी बुद्धि गुणों और शक्तियों से भरपूर रहेगी तो मन भी शक्तिशाली हो जायेगा … फिर माया या आपके पुराने संस्कार आप पर वार नहीं कर पायेंगे…।

देखो, जैसे आप सोचते हो कि मैं एक शान्त स्वरूप आत्मा हूँ…, तो आपका मन अन्तर्मुखी हो जायेगा, बोल शान्त और मधुर हो जायेंगे और कर्म भी बिल्कुल accurate होंगे अर्थात् आपकी मन्सा-वाचा-कर्मणा एक समान हो जाएगी…।
इस तरह आपको हर गुण वा शक्ति का स्वरूप बन उन्हें अपनी दिनचर्या में use करना है, जितना use करोगे उतना यह बढ़ते जायेंगे…।

बच्चे, आप कहते हो ना कि हम बाबा से सच्चे दिल से प्यार करते हैं…!
और जिससे प्यार किया जाता है उसे जो पसन्द नहीं हो … वो बोल और वो कार्य तो नहीं किया जाता है…! 
इस दुनिया में भी आप सब इन बातों का ध्यान रखते हो और फिर जब यहाँ बाबा (परमात्मा शिवबाबा) को व्यर्थ या साधारण पसन्द नहीं है और वो कहते है कि हमेशा गुण स्वरूप वा शक्ति स्वरूप बन जाओ…, फिर आपको मुश्किल क्यों लगता है…?

क्योंकि आप अपने original स्वरूप को बार-बार merge कर देते हो। 
दूसरा, आप कहते हो ना कि हमने आपना तन, मन, धन, सम्बन्ध, सम्पर्क, कर्म, हिसाब, किताब, कमी, कमज़ोरी सब बाप को दे दी है … फिर बाप जानें, बाप का काम जानें … फिर आप बच्चे क्यों सोचते हो…?

यदि आप बाबा को दी हुई किसी भी बात के बारे में सोचते हो, तो बाबा साक्षी हो जाता है और वो कार्य आपके लिए और भारी हो जाता है … इसलिए आपका पुरूषार्थ बढ़ जाता है…!

यदि दी हुई चीज़ आपके पास आती है तो आप उसे फिर से बाबा को दे दो और बाबा से शक्तियाँ ले अपने original स्वरूप में स्थित हो जाओ … ऐसा अभ्यास बार-बार करो…।
इसमें समय व्यर्थ मत गँवाओ क्योंकि यह वो समय है जबकि परमात्मा बाप आपका साथी बन आपको 100% मदद दे रहा है, तो इसका फायदा उठा स्वयं को अपनी seat पर set रख जल्दी से जल्दी अपने लक्ष्य को प्राप्त करो…।

जितना attention रखोगे उतना ही बाबा का सहयोग वा शक्तियाँ मिलेगी…। 
बस बच्चे, जल्दी-जल्दी सम्पन्न बन अर्थात् बाप-समान बन बाप से मिलन मनाओ। अब ना ही दिलशिकस्त होना है और ना ही अलबेलापन लाना है…।

यह मन और बुद्धि की यात्रा है जो आप अपने स्वरूप में स्थित हो हर पल कर सकते हो … बस attention की ज़रूरत है…।

अच्छा। ओम् शान्ति।

【 Peace Of Mind TV 】
Dish TV # 1087 | Tata Sky # 1065 | Airtel # 678 | Videocon # 497 |
Jio TV |

" omshanti1 : ."