BRAHMAKUMARIS Aaj Ka Purusharth 28 JULY 2019 – आज का पुरूषार्थ

Om Shanti
28.07.2019

★【आज का पुरूषार्थ】★

बाबा कहते हैं … बच्चे, बाप आप बच्चों को जो भी संकल्प दे रहा है, उसे अपनी बुद्धि रूपी तिजोरी में समा, उसे अपने दिनचर्या में हर पल use करो।

• सब मेरे हैं, मुझे सभी से एक समान प्यार करना है। 
• मुझमें हर पल प्यार का सागर बहता रहें…।
• सभी आत्मायें जैसी भी हैं, मुझे accept है।
• हर कोई drama में 100% accurate part play कर रहा है…, चाहे उसका part negative हो, स्वयं को hero ना होते हुए भी hero समझने का, अर्थात् स्वयं को ऊँच और समझदार समझने का हो, परन्तु हर हाल में मुझे हर आत्मा accept है और मुझे ही हर आत्मा का, हर पल, हर हाल में कल्याण करना है।

परन्तु उससे पहले स्वयं को स्वयं की seat पर set कर, 100% सन्तुष्ट और खुश रखना है, वो भी बाप (परमात्मा शिव) के according…। 
• मुझे अपने पाँचों तत्वों से बने इस तन को love और light के साथ-साथ purity के vibrations देते हुए, इसके कल्याण के निमित्त इसे समझानी देनी है। इसे इसका original स्वरूप अर्थात् light का transparent स्वरूप की स्मृति देनी है। हर हाल में इसे प्रेमपूर्वक समझानी देनी है। 
• स्वयं से और स्वयं के part से सन्तुष्ट रहना अति आवश्यक है। सन्तुष्ट आत्मा ही परमात्मा बाप के कार्य में सहयोगी बन सकती है। 
• इस तमोप्रधान दुनिया के बीच रहते … उदासी के, भारीपन के या कोई भी problem के संकल्प आये, उसे conscious में आते ही एक side में कर, बाप के according संकल्प करने हैं।

यदि कही पर भी मूँझते हो या कुछ समझ ना आये, तो बार-बार स्वयं को स्वयं के संकल्पों समेत बाप के आगे समर्पण कर देना है।

देखो बच्चे, इस समय प्रकृति अर्थात् आपका तन, आपके संकल्पों को समझ, स्वयं को परिवर्तन करने का attention रख रहा है…। इसलिए आप consciously कोई भी कमज़ोरी का संकल्प नहीं लाना। अधिक से अधिक स्वयं को conscious (जागृत) अवस्था में रखने का attention रखना है, क्योंकि जब आप aware रह, स्वयं के तन को positive vibrations देते हो या खुश वा हल्के रहते हो, तब आपके तन का परिवर्तन speed से हो रहा होता है … और जब आप स्मृति स्वरूप नहीं होते, तो आपके तन के परिवर्तन का कार्य रूक जाता है … और इस समय बाप की श्रीमत के according अर्थात् बाप के प्यार में समाये रहने वाले अर्थात् निश्चयबुद्धि रहने वाले बच्चों के तन पर केवल positive effect ही रहता है, positive संकल्पों का…।
अन्यथा कार्य चाहे रूक जाये, परन्तु opposite direction पर नहीं जा रहा है…।

जो बच्चे 100% निश्चयबुद्धि बन बाप की एक-एक समझानी को स्वयं में practical apply कर रहे हैं, उनका बाप 100% ज़िम्मेवार भी है और उनका परिवर्तन का कार्य झटके से कभी भी सम्पन्न हो सकता है…।

अच्छा। ओम शांति।

____________________________________

**IMPORTANT POINT*

*सब मेरे हैं, मुझे सभी से एक समान प्यार करना है … मुझमें हर पल प्यार का सागर बहता रहें … सभी आत्मायें जैसी भी हैं, मुझे accept है। हर कोई drama में 100% accurate part play कर रहा है … और मुझे ही हर आत्मा का, हर पल, हर हाल में कल्याण करना है। परन्तु उससे पहले स्वयं को स्वयं की seat पर set कर, 100% सन्तुष्ट और खुश रखना है, वो भी बाप के according…।*

【 Peace Of Mind TV 】
Dish TV # 1087 | Tata Sky # 1065 | Airtel # 678 | Videocon # 497 |
Jio TV |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Font Resize